IPL टूर्नामेंट के इतिहास में 8वीं बार मैच टाई हुआ, पहली बार सुपर ओवर में जीती दिल्ली

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 12वें संस्करण के 12वें मैच का फैसला सुपर ओवर से हुआ। आईपीएल के इतिहास में यह आठवां मौका रहा है, जब मैच के नतीजे के लिए इस तरीके का इस्तेमाल करना पड़ा हो। आईपीएल में दिल्ली ने दूसरी बार सुपर ओवर खेला। इससे पहले 2013 में बेंगलुरु के खिलाफ वह मैच हार गई थी। इस संस्करण में पहली बार सुपर ओवर से मैच का फैसाल हुआ। आईपीएल 2013 सिर्फ अकेला संस्करण था, जब दो बार मैच सुपर ओवर में पहुंचे।

इससे पहले 2013 में बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में दिल्ली और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच खेला गया मैच टाई हो गया था। उस मैच में दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट पर 152 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करने उतरी बेंगलुरु ने भी 20 ओवर में 7 विकेट पर 152 रन बनाए। मैच सुपर ओवर में पहुंचा। बेंगलुरु ने एक ओवर में 15 रन बनाए। दिल्ली को 16 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन वह 11 रन ही बना पाई और बेंगलुरु ने मैच जीत लिया।

आईपीएल में सबसे ज्यादा बार सुपर ओवर खेलने की बात की जाए तो कोलकाता नाइटराइडर्स नंबर वन है। आईपीएल का पहला सुपर ओवर मैच 2009 में केप टाउन में उसके और राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ ही खेला गया था। इसके बाद 2014 में अबु धाबी में उसने फिर राजस्थान के खिलाफ सुपर ओवर मैच खेला। दोनों ही बार राजस्थान की टीम मैच जीतने में सफल रही थी। इस बार भी दिल्ली ने उसे सुपर ओवर में हरा दिया।

सुपर ओवर के रन करियर रिकॉर्ड में नहीं जुड़ते
सुपर ओवर में मैच पहुंचने पर दोनों टीमों को एक-एक ओवर फेंकने होते हैं। इसमें जो भी टीम ज्यादा रन बनाती है, मैच का नतीजा उसके हक में जाता है। हालांकि, सुपर ओवर में बनाए गए रन खिलाड़ी और टीम के करियर रिकॉर्ड में शामिल नहीं किए जाते हैं। यानी यह एक ओवर का मैच नहीं होकर सिर्फ एक टाई ब्रेकर होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *