पाक सरकार और सेना दोनों भारत के साथ सभ्य रिश्ते चाहते हैं, इरादे बड़े हों तो सभी मसले हल हो सकते हैं: इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान  ने करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब  को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ने वाले बहुप्रतीक्षित गलियारे की आधारशिला रखी. इस दौरान भारत की ओर से केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, हरसिमरत कौर और नवजोत सिंह सिद्धू मौजूद थे. इस मौके पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि भारत-पाकिस्तान दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं. जब फ्रांस और जर्मनी साथ हैं फिर हम क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि क्या हम अपना एक मसला हल नहीं कर सकते? कोई ऐसी चीज नहीं जो हल नहीं हो सकती. इरादे बड़े होने चाहिए, ख्वाब बड़े होने चाहिए. इमरान खान ने पाक सरकार और सेना के बीच अक्सर मतभेद की चर्चा का जिक्र करते हुए साफ कहा कि भारत से बेहतर रिश्ते को लेकर देश की सरकार और फौज की राय एक है. इमरान ने कहा कि दोनों तरफ से गलतियां हुईं हैं, लेकिन जब तक हम आगे नहीं बढ़ेंगे तब तक दुश्मनी को नहीं तोड़ पाएंगे.

उन्होंने कहा कि हम भारत के साथ सभ्य संबंध चाहते हैं. उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच दोस्ती ही एकमात्र रास्ता है. इरादा मजबूत हो तो हर रिश्ते सुधर सकते हैं. उन्होंने कहा कि भारत एक कदम बढ़ाएगा. पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि मुसलमानों को मदीना जाने में जो खुशी मिलती है वह खुशी हिंदुस्‍तान से आए हमारे भाईयों के चेहरे पर हम देख रहे हैं. इमरान खान ने कहा कि हिंदुस्‍तान एक कदम बढ़ाएगा हम दो कदम बढाएंगे.

करतारपुर साहिब का मुद्दा तब सुर्खियों में आ गया था जब पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने दावा किया था कि पाकिस्तान के सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने उनसे कहा है कि पाकिस्तान करतारपुर साहिब गालियारा खोल सकता है जो पंजाब में अंतरराष्ट्रीय सीमा के ठीक उस पार स्थित है, दरअसल, सिद्धू अपने दोस्त क्रिकेटर से सियासत में आए इमरान खान के प्रधानमंत्री पद पर शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए अगस्त में पाकिस्तान गए थे और वतन लौटने पर उन्होंने उक्त दावा किया था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *